स्थलाकृति पर लेख

1. स्थलाकृति किसे कहते है ?

स्थलाकृति (Topography, टोपॉग्रफ़ी) ग्रह विज्ञान की यह एक शाखा है,
जिसके अंतर्गत पृथ्वी अथवा किसी अन्य ग्रहों, क्षुद्रग्रहों और उपग्रहों की सतह के आकार एवं आकृतियों के बारे में अध्ययन किया जाता है।
तथा किसी भी प्रकार की नक़्शों के निर्माण में स्थलाकृति का बहुत ही ज्यादा और विशेष महत्व है |

♥ स्थलाकृति के इस लेख के मुख्य बिंदुओ... landshape of moon
1. स्थलाकृति किसे कहते है ?
2. पृथ्वी के भूस्वरूप को कितने भागों में विभाजित किया गया है ?
3. प्रथम कोटि के भू-स्वरूप के बारे में
4. दूसरी कोटि के भू-स्वरूप के बारे में
5. तीसरी कोटि के भू-स्वरूप के बारे में

2. पृथ्वी के भूस्वरूप को कितने भागों में विभाजित किया गया है ?


पृथ्वी के भूस्वरूप Features Of Earth or Relief Forms
पृथ्वी की सतह के स्थलाकृति को वर्गीकृत करते हुए सेलिसबरी नामक लेखक ने अपनी पुस्तक Physiography में इसे तीन भागों में विभाजित किया है-

  • 1. प्रथम कोटि के स्थलाकृति/भू-स्वरूपों के अन्तर्गत महासागरों और महाद्वीपों को शामिल किया जाता है |

  • 2. दूसरी कोटि के स्थलाकृति/भू-स्वरूपों में मैदान, पर्वत, पठार, को शामिल किया जाता है |

  • 3. तीसरी कोटि के स्थलाकृति/भू-स्वरूपों में अपक्षय यानि की अनाच्छादन, निक्षेपण और अपरदन की शक्तियों के द्वारा बनी हुई नदी, घाटियाँ, डेल्टा, हिमोढ़, अन्य को शामिल किया जाता है।
landshape on earth from india

3. प्रथम कोटि के भू-स्वरूप के बारे में


धरती पर महासागर और महाद्वीप भूमण्डल के प्रमुख भाग माने गये हैं। पृथ्वी की सतह पर स्थल खण्ड और इसके ऊपर उठे भाग हैं |
जिनके बहुत से निर्मित महाद्वीपीय भाग मौजूद हैं। जल खण्ड पृथ्वी के सतह पर नीचे धसे हुए भाग होते हैं।

पृथ्वी के सतह पर विस्तृत हुये महासागरों और महाद्वीप का कुल क्षेत्रफल लगभग 51,0066,100 वर्ग किलोमीटर तक है।
महाद्वीपों के अन्तर्गत कुल इनका क्षेत्र 14.89 करोड़ वर्ग किलोमीटर या समुचित पृथ्वी के सतह का 29.08 प्रतिशत (%) भाग पर विस्तृत है |
लेकिन महासागरों के अन्तर्गत भूमि का 70.92 प्रतिशत (%) क्षेत्र आता है। महाद्वीपों में सबसे ऊंचा शिखर एवरेस्ट पर्वत 848 मीटर है |
वही महासागरों की क्षेणी में सबसे गहरा गर्त प्रशांत महासागर में मेरियाना 11,033 मीटर (m) गहरा है।

पृथ्वी का बाहरी का भाग जिस पर मानव निवास करता है | उसे भू-पटल (Crust) के नाम से जाना जाता है। भू-पटल को दो भागों में बाटा गया है...

  • 1. समुद्री भू-पटल या समुद्र तल (Oceanic crust or ocean Bottom)
  • 2. महाद्वीपीय भू-पटल (Continental Crust)

3. दूसरी कोटि के भू-स्वरूप के बारे में


mountains on earth from india

4. तीसरी कोटि के भू-स्वरूप के बारे में


paddy cultivation on earth from india
Continue Reading »»
w G P

You may like related post:

MORE प्रथ्वी के बारे में पढ़े ब्रह्मांड के बारे में पढ़े वायुमंडल के बारे में पढ़े स्थलाकृति के बारे में पढ़े विश्व के प्रमुख के बारे में पढ़े विश्व के प्रमुख 2 के बारे में पढ़े भारत का भूगोल के बारे में पढ़े प्रथ्वी की संरचना के बारे में पढ़े