भारतीय इतिहास के साम्राज्य

साम्राज्य, Samrajy

1. साम्राज्य की परिभाषा क्या होती है ?
राज्य जहां कई कई प्रकार की जातियां निवास करती हैं, तथा वह जो क्षेत्र में विशाल है, और उस क्षेत्र में सम्राट के पास समस्त कब्जा हैं,
उसे साम्राज्य कहा जाता है। इस प्रकार की क्षेत्र एक राजनैतिक क्षेत्र होती है |
जो किसी एक राजा जैसे की, मुग़ल साम्राज्य या कुछ मुख्य - पतियों जैसे की, मराठा साम्राज्य लोगो के द्वारा साझेदारी में कार्य भाल संभाला जाता है |
india map form history view या फिर साम्राज्य छोटे समय के अंतराल में भी हो सकता है | लेकिन अधिकतर वह पीढ़ी दर पीढ़ी कई दशकों अथवा कई सदियों तक चलता रहता है |

♥ आज के साम्राज्य लेख के मुख्य बिदुओं...
1. साम्राज्य की परिभाषा क्या होती है ?
2. साम्राज्य का शाब्दिक अर्थ क्या होता है?
3. साम्राज्य के संगठित रूप क्या है?
4. साम्राज्य के बहुत से उदाहरण देखे!

2. साम्राज्य का शाब्दिक अर्थ क्या होता है?



साम्राज्य शब्द की उत्पत्ति दो शब्दों के मेल से हुआ है| सम जिसका मतलब एक समान + राज्य यानि की उस राजा का क्षेत्र |
इसका तात्पर्य यह है, की उन सभी क्षेत्रों को एक नक़्शे के नीचे ले आना जो की एक ही प्रशासन के द्वारा संभला जाता हैं |
और यह एक व्यंजन संधि का रूप है| साम्राज्य के संगठित रूप क्या है?
indian glance historical view

3. साम्राज्य के संगठित रूप क्या है?



एक से ज्यादा प्रशासकों के द्वारा भी चलाया जाने वाला अत्यंत विशाल क्षेत्रफल का राज्य साम्राज्य कहलाता है |
भले ही वे इसके लिए शशक एक न हों| लेकिन वे मात्र मित्र भी हो सकते हैं, जिससे संधि हो |
जैसे की आप उदाहरर्ण से समझ सकतेहै, जैसे की, रोम के तीन शशक मिलकर के एक साथ रोमन साम्राज्य संभाला करते थे |
उदाहरण के लिये आप जुलिअस सीज़र का नाम का जिक्र कर सकते है,
क्योंकि जुलिअस सीज़र के समय में उसकी संधि अपने मित्र मार्क एंटनी के साथ की हुई थी |

indian state kerala fight historical view
w G P

You may like related post:

पाषाण युग शुंग राजवंश शक राजवंश मौर्य राजवंश कुषाण राजवंश सातवाहन राजवंश भारत का इतिहास मध्यकालीन भारत